Spinal Bath Tub

मेरूदण्ड स्नान

यह स्नान एक विशेष प्रकार के आयताकार टब में किया जाता है जिसकी चादर की लम्बाई 40 इंच और चैड़ाई 25 इंच होती है। यह स्नान पीठ के बल लेटकर लिया जा सकता है। टब में लगभग दो-इंच गहरा शीतल जल (अधिक शीतल नहीं) डाल लें। पानी उतना ठण्डा हो जितना व्यक्ति अराम से सहन कर सके। कभी भी बर्फ या फ्रिज के पानी का प्रयोग न करें। गर्मियों के मौसम में सुराही या घड़े का पानी उपयुक्त है। व्यक्ति का सिर या गर्दन टब की ज्यादा ढलाल की ओर होना चाहिए।जाँघें कम ढलान की ओर, टाँगे टब के बाहर रहनी चाहिए जैसा के चित्र में दिखाया गया हैं। टब में लेटे-लेटे एक ठण्डे पानी की पट्टी पेट पर रख लें।

सिर में दर्द अथवा गले की कोई तकलीफ हो ता एक-एक छोटी गीली पट्टी माथे एवं गले की कोई तकलीफ हो तो एक-एक छोटी गीली पट्टी माथ एवं गले पर लपेट लें। यदि पैर ठण्डे रहते हों तो इस स्नान के साथ-साथ पैरों को गर्म (गुगगुने) पानी की बाल्टी में रखें स्नान की अवधि 15 से 30 मिनट तक है इस स्नान से तनाव दूर होने के कारण इतना लाभ मिलता है कि कुछ लोग (अनिद्रा के रोगी) तो टब में लेटने के कुछ मिनटों में ही सो जाते हैं।यह गहरी निद्रा होती है।यदि कोई व्यक्ति टब में इस प्रकार सो जाय तो उसको जगाने का प्रयत्न न करें । कुछ समय उपरान्त व्यक्ति करवट बदलने के प्रयत्न के कारण अपने आप जाग जाएगा। हो सके तो मेरूदण्ड स्नान के बाद, पूरा स्नान करें। ऐसा सम्भव न हो तो कम से कम सिर तथा चेहरे पर ठण्डा पानी डालें या गीले कपड़े से पोछ ले।

Method to Use Spinal Bath Tub

Fill in about 5 to 7 centimetres of water (2 to 3 inches) in the tub and not more. Let the water be bearably cool, well within the capacity of the bather to take the bath comfortably. Ice should not be added to this water, to cool it. If the water locally available (coming from the water tap) is very warm, the ideal thing will be to store it in small earthen pots for 2-3 hours. The water would have become cool enough and this can be used.

Once in the morning and again in the evening, if possible let the spinal bath be taken for approximately 30-40 minutes or less, if adequate time is not available. When lying down in the tub the head should be kept on the more slanting side of the tub. If need be, this can be combined with hot water foot bath wherein the legs can be immersed in bearable hot water. This would enable the person to ‘enjoy’ the spinal bath.

After about 30 minutes’ time, due to the interaction of the body heat on the cool water, the water might have become warm and it would no more be enjoyable. Let the bather get up and have a full bath.

Download PDF